Error message

  • User warning: The following module is missing from the file system: webform_localization. For information about how to fix this, see the documentation page. in _drupal_trigger_error_with_delayed_logging() (line 1143 of /var/www/html/includes/bootstrap.inc).
  • Warning: Creating default object from empty value in ctools_access_get_loggedin_context() (line 1411 of /var/www/html/sites/all/modules/ctools/includes/context.inc).

परामर्श सेवा

यह केन्द्र पिछले कई वर्षों से विभिन्न विषयों पर उत्पाद विकास तथा प्रशिक्षण का हब रहा है। हमारी परामर्श-सेवाएँ आपको विशेषज्ञता के इस पूल का लाभ उठाने का अवसर प्रदान करती हैं। यह केन्द्र निम्नलिखित क्षेत्रों में परामर्श-सेवाएँ उपलब्ध कराती है :


अन्तर्निर्मित प्रणालियाँ

इंटेल के 80सी196एमसी का प्रयोग करके एकीकृत माइक्रोकंट्रोलर विकास प्रणाली

इंटेल 80सी196केबी/केसी माइक्रोकंट्रोलर पर आधारित सिंगल बोर्ड कम्प्यूटर (एसबीसी-196)

विण्डोज़ आधारित एकीकृत सॉफ्टवेयर विकास परिवेश (वाइज़-96) 

विशेषताएँ :

विण्डोज़ 3.1 या विण्डोज़ 95/98/परवर्ती सहित वाइज़-96 एकीकृत सॉफ्टवेयर विकास एवं डिबगिंग परिवेश आईपीएम पीसी

विण्डोज़ आधारित फाइल एडिटर असेम्बलर

विशिष्टियाँ 

  सिंगल यूरो (एसबीसी-196) डबल यूरो (एसबीसी-196डी)

प्रोसेसर

80सी196केबी/केसी

80सी196केबी/केसी

बाह्य बस

8-बिट

16- बिट

रैम

32के

32के – 128के

ईपीरॉम

32के – 64के

32के – 256के (फ्लैश)

ईईपीरॉम

-

1के

डिजिटल आई/ओ

20

16

एनालॉग आई/पी

8

8

एनालॉग ओ/पी

-

1 (12-बिट स्पष्टता)

पीडब्ल्यूएम

1

3 तक

सीरियल पोर्ट

1 आरएस 232

1 (आरएस 232/485)

16बिट टाइमर

2

2

इंटरप्ट्स

4

10

सॉफ्टवेयर टाइमर

4

4

बैकप्लेन बस

4 स्लॉट

6 स्लॉट – वीएमई पिन अनुरूपी

स्थिति प्रदर्श

7 सेग एलईडी

5 एलईडी

आपूर्ति वोल्टता

+5V

+5V, ±15V

Hindi

डीएसपी अनुप्रयोग विकास प्रणाली डबल यूरो

  • टेक्सास इंस्ट्रूमेंट्स TMS320C32, 32-बिट फ्लोटिंग प्वाइंट डीएसपी पर आधारित कालीकट डीएसपी (सीडीएसपी-32)
  • विण्डोज़ आधारित एकीकृत सॉफ्टवेयर विकास परिवेश (वाइज़-96) 

सीडीएसपी-32

  • डबल यूरो आकार
  • बैकप्लेन बस आधारित माड्यूलर
  • किसी अतिरिक्त विकास हार्डवेयर की जरूरत नहीं है
  • तीव्र एवं आसान उत्पाद विकास 

वाइज़-32

  • एकीकृत सॉफ्टवेयर विकास एवं डिबगिंग परिवेश
  • डीएसपी आधारित एकीकृत सॉफ्टवेयर विकास एवं डिबगिंग परिवेश
  • विण्डोज़ 3.1/95/98/परवर्ती सहित आईबीएम पीसी  

विशेषताएँ:

  • विण्डोज़ आधारित फाइल एडिटर  
  • असेम्बलर/कम्पाइलर
  • डिबगिंग के लिए मॉनीटर प्रोग्राम

विशेषताएँ

प्रोसेसर TMS320C32

मेमोरी

 

ईपीरॉम

64के से 256के x 32-बिट

रैम

32के से 128के x 32-बिट

आरएस232 सेर. पोर्ट

1

सिंक सेर. पोर्ट

1

32- बिट टाइमर

2

बोर्ड का आकार

डबल यूरो (160 * 233.3 मिमी.)

बैकप्लेन बस

वीएमई अनुरूपा : (4 विस्तर स्लॉट)

स्थिति प्रदर्श

5 एलईडी

आपूर्ति वोल्टता

+5V

Hindi

डीएसपी एवं माइक्रोकंट्रोलर विकास प्रणालियों के लिए एनालॉग तथा डिजिटल आई/ओ एड-ऑन कार्ड

आईएमडीएस-196

  • एनालॉग इनपुट/आउटपुट कार्ड
  • आईएमडीएस तथा सीडीएसपी के लिए एड-ऑन कार्ड

विशिष्टियाँ:

  • एनालॉग इनपुट 12-बिट एडीसी (15ms परिवर्तन समय)
  • 6 आइसोलेटेड अथवा गैर-आइसोलेटेड चैनल
  • चयनयोग्य इनपुट संकेत परास
  • 0-10V, 0-20V, ±5V, ±10V, 4-20mA w लीनियरिटी : ±1 LSB
  • 12- बिट स्पष्टता
  • 1 आइसोलेटेड चैनल
  • चयनयोग्य आउटपुट संकेत परास
  • 0-5V,0-10V, ±2.5V, ±5V, ±10V, 4-20mA, 0-20mA
  • लीनियरिटी: ±1 LSB
  • डबल यूरो आकार, वीएमई बस अनुरूपी

डिजिटल इनपुट/आउटपुट कार्ड

  • डीएसपी/एसबीसी-196डी के लिए ऐड-ऑन कार्ड

विशेषताएँ:

डिजिटल इनपुट

  • 8 आइसोलेटेड इनपुट चैनल
  • सभी इनपुटों के लिए एलईडी इंडिकेटर
  • 0-5V डीसी, या 0-30V डीसी
  • 7500V इनपुट से आउटपुट पृथक्करण

डिजिटल आउटपुट

  • 16 आइसोलेटेड आउटपुट चैनल
  • सभी आउटपुटों के लिए एलईडी इंडिकेटर  
  • 0-5V डीसी या 0- 24V डीसी आउटपुट
  • डबल यूरो आकार, वीएमई अनुरूपी 
Hindi

माइक पृथक्करण एकक

  • टेलीफोन हैण्ड सेटों में प्रयुक्त होने वाली माइकों के कार्यनिष्पादन की जाँच की जाती है
  • तीन अलग-अलग श्रेणियों में पृथक किया जाता है
  • इसके बाद इस पृथक्करण के अनुसार टेलीफोन हैण्डसेटों का संयोजन दूरसंचार विभाग के मानकों को पूरा करने के लिए किया जाता है
  • बीपीएल उत्पादन इकाई द्वारा प्रयोग में लाया जाता है
  • इस यूनिट के लिए एसबीसी-196डी का प्रयोग ऐड-ऑन कार्ड के साथ किया जाता है
Hindi

रोबो के मोटर नियंत्रण के लिए एसबीसी-196डी तथा डिजिटल आई/ओ ऐड-ऑन कार्ड

एसबीसी-196डी तथा डिजिटल आई/ओ का प्रयोग करके रोबो के लिए स्टेपर मोटर नियंत्रक कार्ड


सूचना प्रौद्योगिकी

विण्डोज़ आधारित पुस्तकालय सूचना प्रणाली (विनलिस)

विनलिस का उद्देश्य किसी सामान्य पुस्तकालय के कार्यकलापों का स्वचालन करना है, जिसके जरिए पुस्तकों/जर्नलों के बारे में ऑनलाइन सूचना प्रदान की जा सके और पुस्तको के जारी होने, वापस होने, आरक्षण, सदस्यता के ब्यौरे आदि की जानकारी प्राप्त हो सके।

इस प्रणाली का विकास नेटवर्क पर खोज की सुविधा प्रदान करने के लिए एक क्लायंट सर्वर मॉडल पर किया गया है।

उपलब्ध पुस्तकों/जर्नलों की उपलब्धता की खोज करने या किसी विशिष्ट व्यक्ति को जारी पुस्तकों का पता लगाने के लिए  सॉफ्टवेयर का एक वेब आधारित अग्रान्त भी है।

विशेषताएँ 

  • विण्डोज़ आधारित ग्राफिकल यूजर इंटरफेस।
  • पुस्तकों, आपूर्तिकर्ताओं, सम्पादकों, क्रय के ब्यौरे आदि से संबंधित सभी सूचना भण्डारित की जा सकती है।
  • सदस्यों तथा उनकी श्रेणी से संबंधित सभी सूचना।
  • प्राथमिकता के आधार पर पुस्तकों का आरक्षण।
  • खोए हुए कार्डों तथा आस्थगित कार्डों की सूचना रखी जाती है।
  • पुस्तकों की उपलब्धता, जारी पुस्तकों, किसी विशेष विषय पर पुस्तकों, किसी विशेष लेखक की पुस्तकों, शेल्फ पर रखी पुस्तकों के स्थान, सदस्यों आदि से संबंधित सामान्य पूछताछ की सहायता प्राप्त होती है।
  • डेटाबेस में उपलब्ध किसी भी सूचना के आधार पर किसी भी प्रकार की रिपोर्ट प्राप्त की जा सकती है, और प्रयोक्ता द्वारा संरचित की जा सकती है।
  • स्वतंत्र संविरचना तथा क्लायंट सर्वर संविरचना संभव है।      

Hindi

केरल फीड के लिए वेतन-पत्रक, विक्रय एवं क्रय स्वचालन

इस सॉफ्टवेयर का विकास एक पशु खाद्य संयंत्र के लिए किया गया जहाँ प्रतिदिन लगभग 750 टन का उत्पादन होता है।

इस सॉफ्टवेयर के जरिए कच्ची सामग्रियों की खरीद, तथा अन्तिम वस्तुओं के विक्रय की सभी कार्यपद्धतियों का कम्प्यूटरीकरण किया जाता है।

यह एक विशद सॉफ्टवेयर है तथा इसमें वे-ब्रिज के माध्यम से ट्रकों के भार का स्वचालित अभिकलन, प्रयोगशाला में विश्लेषण के लिए स्वचालित नमूना कोड सृजन, गुणवत्ता के आधार पर सामग्री के मूल्य का अभिकलन, आपूर्तिकर्ता सूचना प्रणाली, क्रयादेश पर कार्रवाई, लेखाओं का समाधान एवं भुगतान, क्रय एवं मूल्य विश्लेषण, बीजक निर्माण, विक्रय एवं मूल्य विश्लेषण, मार्ग निर्धारण तथा समय-सारिणी आदि शामिल हैं।

यह सॉफ्टवेयर अन्तिम वस्तुओं के वितरण के लिए लोडिंग समय-सारिणी, प्रेषण समय-सारिणी आदि भी तैयार करता है। इसके लिए कई रिपोर्टें तैयार की जाती हैं जिसमें अनेक एसक्यूएल पूछताछ शामिल हैं।

विशेषताएँ:

  • गुणवत्ता तथा लागत के आधार पर कच्ची सामग्रियों का गतिशील चयन।
  • वे-ब्रिज पर लोड सेल से स्वचालित प्रविष्टि।
  • परिवहन की लागत को न्यूनतम करने के लिए स्वचालित परिवहन मार्ग सृजन।
  • कच्ची सामग्रियों की गुणवत्ता के परीक्षण के लिए आन्तरिक रूप में सृजित कोड।
  • डेटा अभिगम सुरक्षा सहित क्लायंट सर्वर वास्तुकला।
  • न्यूनतम लागत अनुमान पैकेज।

इस पैकेज का विकास उपलब्ध कच्ची सामग्रियों के आधार पर उत्पादन के लिए अनुकूलतम पशु खाद्य का अभिकलन करने के लिए किया गया।

इस सॉफ्टवेयर में उत्पादन आयोजना समर्थन, उत्पादन, मूल्य आदि पर आधारित अनुकूलन की विशेषताएँ हैं। यह पोषकता के मान, मूल्य एवं उपलब्धता आदि के आधार पर कच्ची सामग्रियों के अनुकूलतम चयन में भी सहायता करता है।     

Hindi

कन्नूर विश्वविद्यालय के स्वचालन का प्रणाली अध्ययन

न्यूनतम लागत प्रतिपादन

मिलमा पशु खाद्य संयंत्र के लिए बैच स्वचालन प्रणाली सॉफ्टवेयर


विद्युत इलेक्ट्रॉनिकी

पशु खाद्य संयंत्र, मिलमा के लिए बैच स्वचालन प्रणाली

किसी प्रक्रिया संयंत्र की बैच प्रक्रिया निगरानी एवं नियंत्रण स्वचालित रूप में न्यूनतम प्रचालक हस्तक्षेप से करने के लिए पीसी आधारित प्रणाली। स्वचालित नियंत्रक का कार्य संयंत्र को कुशलतापूर्वक एवं प्रभावी रूप में चलाना और इस प्रकार संयंत्र की गुणवत्ता एवं उत्पादकता में सुधार करना है।  .

इस प्रणाली के तीन प्रमुख माड्यूल हैं।

  • विण्डोज़ 3.1 अथवा परवर्ती संस्करण (पीसी) सहित आईबीएम अनुरूपी पीसी
  • संयंत्र स्वचालन सॉफ्टवेयप (पीएएस)
  • बुद्धिपरक संयंत्र स्वचालन इंटरफेस (आईपीए)   

पीएएस आईबीएम अनुरूपी पीसी पर चलता है और संयंत्र की संविरचना करने तथा उसे चलाने के लिए एक प्रयोक्ता उपयोगी परिवेश उपलब्ध कराता है तथा एमआईएस प्रदान करता है।  

आईपीए पीसी तथा संयंत्र के बीच हार्डवेयर इंटरफेस है। इसमें एक माइक्रो-कंट्रोलर, मोटरों, फ्लैप आदि को चलाने के लिए आउटपुट पोर्ट हैं। इनपुट पोर्ट भार सेल मान को पढ़ने, कन्वेयर/मिक्स की स्थिति की निगरानी करते हैं तथा पीसी के साथ इंटरफेस का एक सीरियल (आरएस-232सी) है।    

विशेषताएँ:

  • संयंत्र की त्रुटियों के कारण प्रक्रिया में रुकावट (भण्डारण बिन से सामग्री का प्रवाह रुक जाना, बिन का खाली हो जाना, कन्वेयर में अवरोध आदि), प्रचालन संबंधी विलम्ब, तथा सामग्री के अपव्यय को काफी कम किया गया है।
  • प्रयोक्ता उपयोगी ग्राफिक यूज़र इंटरफेस (जीयूआई) द्वारा कम्प्यूटर स्क्रीन पर एक सरल एवं प्रभावी मिमिक डायग्राम के जरिए संयंत्र के चलने की सूचना प्रचालक को प्रस्तुत की जाती है।
  • कुशलता में अभिवृद्धि करने के लिए प्रक्रिया अध्ययन एवं संविरचना में संशोधन का प्रावधान (जैसे कि बैच भार तोलन समय को कम करने के लिए एक ही प्रकार की सामग्री के दो बिनों को साथ-साथ खोला जाना, अलग-अलग बैच भारों का प्रयास करना, प्रक्रिया समय में संशोधन करना आदि)

निम्नलिखित पर प्रबंध सूचना (एमआईएस)

  • सामग्री की खपत तथा उत्पादन के ब्यौरे – पारी-वार दैनिक एवं मासिक।
  • अलार्म का विवरण – अलार्म की परिस्थिति, समय, की गई कार्रवाई तथा प्रत्युत्तर का समय।
  • रुकावट या खाली बिन, जिसका एक वैकल्पिक बिन उपलब्ध है, के कारण सामग्री के प्रवाह में अवरोध (प्रणाली निर्धारित वैकल्पिक बिन में स्वतः परिवर्तन कर देती है)।
  • निर्धारित न्यूनतम रिफिल स्तर के नीचे बिन का स्तर।
  • सामग्री प्रवाह में अवरोध तथा कोई वैकल्पिक बिन उपलब्ध नहीं रहना।
  • संयंत्र में किसी असफलता (कन्वेयर, एलिवेटर, मिक्सर, फ्लैप की असफलता आदि) को समाप्त कर दिया गया है।

केसीएमएमएफ पशु खाद्य संयंत्र में बीएएस को प्रतिष्ठापित करने के कारण बैचिंग समय में काफी बचत हुई है, जिसके परिणामस्वरूप उत्पादन क्षमता में काफी वृद्धि हुई है। किसी भी बैच प्रक्रिया के लिए इसे उपयुक्त रूप में संरचित किया जा सकता है।

उपभोक्ता : केसीएमएमएफ (मिलमा)

Hindi

फोर्कलिफ्ट ट्रक के लिए चॉपर ड्राइव

भारत में विनिर्मित अधिकांश फोर्क लिफ्टों में परम्परागत रियोस्टैट नियंत्रित ड्राइव हैं। यह स्कीम बैटरी में भण्डारित उर्जा का उपयोग प्रभावी रूप में नहीं करती है। चॉपर ड्राइव भण्डारित ऊर्जा का उपयोग प्रभावी रूप में करने की एक वैकल्पिक स्कीम उपलब्ध कराता है जिससे बैकअप समय बढ़ जाता है और यह स्कीम एक आसान ड्राइव उपलब्ध कराती है।

फोर्क लिफ्ट ट्रक के लिए चॉपर ड्राइव यात्रा की गति को शून्य से अधिकतम तक करने में आसान एवं कुशल नियंत्रण उपलब्ध कराता है। यदि एक्सिलरेटर पैडल को तेजी से दबाया जाता है, तो नियंत्रण परिपथ मोटर की शक्ति को आसानी से बढ़ा देते हैं। ड्राइव के परिपथ स्टार्ट करने के दौरान उच्च स्पंदन पर अधिकतम करंट प्रदान कर सकते हैं और इसमें स्पंदन के अधिकतम करंट तथा अति करंट को सीमित करने का अन्तर्निर्मित संरक्षण है।

माइक्रो कंट्रोलर आधारित पर्यवेक्षी नियंत्रण यूनिट भी इंटरलॉकिंग द्वारा फारवर्ड एवं रिवर्स कन्टैक्टरों के लिए प्रेरण परिपथों को नियंत्रित करती है जिससे एक्सिलरेटर पैडल को जब दबाया जाए तब दिशा में परिवर्तन के चयन को रोका जा सके। नियंत्रण यूनिट बैटरी चार्ज की स्थिति के संबंध में एक बार-ग्राफ उपलब्ध कराती है और इसमें विजुअल अलार्म परिपथ भी होते हैं जो प्रचालक को अति भार, अति तापमान तथा निम्म बैटरी की स्थिति के बारे में चेतावनी देते हैं।      .

विशेशताएँ

मोटर रेटिंग

डीसी सिरीज़ मोटर 36V, 5HP

युक्ति

मॉसफेट माड्यूल

बैटरी

36V ट्रैक्शन बैटरी

नियंत्रण

पीडब्ल्यूएम

नियंत्रण इनपुट

पैडल यूनिट में पोटेंशियोमीटर

नियंत्रण पैनल

मेन ऑन/ऑफ स्विच, फारवर्ड रिवर्स चयन स्विच, ड्राइव ऑन के लिए प्रदर्श, अधिक भार, अधिक तापमान के आधार पर फारवर्ड रिवर्स का चयन

संरक्षण

अति करंट ट्रिप, अति तापमान ट्रिप, स्पंद अधिकतम करंट को सीमित करना, रिवर्स में भिन्नता  

प्रीक्वेंसी

7kHz

तापमान

अधिकतम 55 डिग्री सी

उपभोक्ता : टाटा स्टील 

Hindi

उच्च आवृत्ति वेल्डिंग पावर सोर्स

मेटल से मेटल आर्क वेल्डिंग उद्योग में बड़े पैमाने पर प्रयोग में लाई जाने वाली एक अत्यधिक वेल्डिंग तकनीक है। परम्परागत वेल्डिंग इकाइयाँ या तो ट्रांसडक्टर किस्म के हैं या फिर थाइरिस्टर किस्म के हैं। वेल्डिंग यूनिटों के लिए उच्च आवृत्ति पावर सोर्स बेहतर वेल्ड क्वालिटी, छोटा आकार, कम लागत तथा पोर्टेबिलिटी के लाभ प्रदान करते हैं।

यह यूनिट सिंगल फेज़ एसी से काम करती है और मूलतः यह एक स्विच मोड कन्वर्टर है जो वेल्डिंग के लिए विलगन तथा उपयुक्त निम्न वोल्टता डीसी प्रदान करता है। इलेक्ट्रॉनिक फीडबैक कंट्रोल आर्क की लम्बाई में भिन्नता के बावजूद निरंतर वेल्डिंग करंट का सुनिश्चय करता है। इनपुट लाइन वोल्टेज भिन्नताओँ की स्वचालित प्रतिपूर्ति स्थिर आउटपुट करंट सुनिश्चित करती है।

सकारात्मक आर्क ज्वलन के लिए हॉट स्टार्ट की विशेषता तथा वेल्ड पूल में इलेक्ट्रोड को ज्यादा ठंडा होने से रोकने के लिए एन्टी स्टिक विशेषता। अति एवं कम इनपुट वोल्टता, अति करंट, अति तापमान से संरक्षण।

विशेषताएँ

इनपुट वोल्टता

207V से 270V AC, सिंगल फेज़, 50Hz.

मुक्त परिपथ वोल्टता

65V

वेल्डिंग करंट परास

5A, 140A निरंतर

वेल्डिंक करंट

30% ड्यूटी चक्र की दर से 140A, 60% ड्यूटी चक्र की दर से 100A, 100% ड्यूटी चक्र की दर से 80A

लोड वोल्टता

अधिकतम वेल्डिंग करंट की दर से 26V

फ्रीक्वेंसी

21kHz

प्रशीतन

अनिवार्य वायु प्रशीतन

विशेषता

हॉट स्टार्ट तथा एन्टी स्टिक विशेषताओं से निरन्तर करंट ड्रापिंग

संरक्षण

अति तापमान, अति वोल्टता

नियंत्रण

स्थानीय रिमोट चयन द्वारा करंट सेट पोटेंशियोमीटर

संकेत

मेन्स ऑन, अति वोल्टता के कारण ट्रिप, थर्मल ट्रिप

तापमान

अधिकतम 55 डिग्री सी

उपभोक्ता : टाटा स्टील 

Hindi

यूनिवर्सल वोल्टेज कंट्रोलर

इस समय आल्टरनेटरों तथा रेक्टिफायर-एवं-रेगुलेटिंग यूनिटों में मैग्नेटिक एम्प्लीफायर आधारित डिजाइन होते हैं। वोल्टता के विनियमन के मामले में इन डिजाइनों की अपनी सीमाएँ हैं। इसके साथ ही, निरन्तर वोल्टता की स्थिति में इनमें बैटरियों को बदलने का गुण नहीं है। चूँकि इन आरआरयू के कार्य चुम्बकीय कोर संतृप्ति पर आधारित है, अतः लोड तथा गति के आधार पर आउटपुट में वोल्टता तथा करंट के तरंग में काफी अन्तर हो जाता है, जिसका प्रभाव बैटरियों के कार्यनिष्पादन/जीवनकाल पर पड़ता है।  

विशिष्टियाँ/विशेषताएँ:

आल्टरनेटर रेटिंग 4.5kW/18kW/25kW का स्वतः चयन

माइक्रो कंट्रोलर आधारित डिजाइन

  • जीबीटी आधारित फील्ड कंट्रोल परिपथ
  • चयनयोग्य आउटपुट वोल्टता
  • असफल करंट को सीमित करना
  • दो आल्टरनेटरों के समानान्तर प्रचालन का समर्थन करता है
  • डेटा लॉगर का समर्थन 

निम्नलिखित के संकेत

  • UVC की स्थिति
  • आल्टरनेटर/फ्यूज़ की असफलता
  • ओवर लोड
  • बैटरी चार्जिंग/डिस्टचार्जिंग Ah
  • आउटपुट वोल्टता
  • आउटपुट करंट
  • बैटरी करंट
  • फील्ड करंट 
Hindi

सीडब्ल्यूआरडीएम के लिए वाष्पन दर निगरानी प्रणाली


प्रक्रिया नियंत्रण एवं यंत्रीकरण

क्रॉप कतरन नियंत्रण प्रणाली

क्रॉप कतरन नियंत्रण प्रणाली की इस परियोजना में मेसर्स टाटा आयरन एण्ड स्टील कम्पनी, जमशेदपुर के लिए एक कतरन नियंत्रण प्रणाली का डिजाइन एवं विकास शामिल है। 

महत्वपूर्ण घटनाएँ:

  • प्रणाली के प्रोटोटाइप का परीक्षण एक डीसी मोटर का प्रयोग करके सफलतापूर्वक किया गया।
  • “डिजिटल सिगनल प्रोसेसर का प्रयोग करके क्रॉप कतरन नियंत्रण प्रणाली का डिजाइन, विकास एवं कार्यान्वयन” पर एक शोध-पत्र विद्युत इलेक्ट्रॉनिकी एवं स्वचालन पर आयोजित चौथे सेमीनार, इन्ट्रॉनिक्स-99, आईईईएमए, जनवरी, 1999 में प्रकाशित किया गया।   

संक्षिप्त विवरण :

  • क्रॉप कतरन नियंत्रण प्रणाली का विकास गतिमान गरम धातु खंड के शीर्ष एवं अन्तिम हिस्से को समुचित आकार देने के प्रयोजन से काटने के लिए किया गया है, जिसकी आवश्यकता इस्पात उद्योगों में होती है। गतिमान शीट के संदर्भ में कतरन की स्थिति का नियंत्रण अनुकूल रूप से किया जाता है जिससे अपेक्षित शुद्धता प्राप्त की जा सके। अत्यधिक प्रभावी नियंत्रण प्रपाती टार्क, त्वरण, गति तथा फीड फारवर्ड नियंत्रण के साथ पोजिशन लूप द्वारा किया जाता है।
  • नियंत्रण प्रणाली का कार्यान्वयन डिजिटल संकेत संसाधक टीएमएस320 का प्रयोग करके किया जाता है। डीएसपी आधारित नियंत्रण यूनिट को पीसी के जरिए एक आरएस232 संचार लिंक के साथ जोड़ा जाता है। प्रणाली की संरचना बनाने तथा मानदण्डों में परिवर्तन करने के लिए पीसी में एक सुविधाजनक प्रयोक्ता इंटरफेस प्रदान किया जाता है। नियंत्रक में प्रचालन के विभिन्न एल्गोरिथ्म ‘सी’ में लिखे जाते हैं तथा टीएमएस320 ‘सी’ कम्पाइलर से साथ क्रास-कम्पाइल किया जाता है। मोटेतौर पर, प्रोग्रामों को परिमापन रूटीनों, ऑफ लाइन रूटीनों तथा ऑनलाइन रूटीनों में विभाजित किया जाता है। परिमापन एल्गोरिथ्मों का संसाधन टाइमर इंटरप्ट रूटीनों में किया जाता है। ऑफ लाइन तथा ऑनलाइन प्रोग्रामों में त्वरण, गति तथा कतरन की स्थिति के लिए फीड फारवर्ड संदर्भ प्रेक्षप पथों की गणना शामिल है। कुछ गणनाएँ जो कटाई शुरू करने से पहले की जा सकती हैं, उन्हें ऑनलाइन प्रक्रिया के दौरान गणना समय से बचाने के लिए ऑफ लाइन रूटीन पर  रखा जाता है।
  • बाह्य इंटरप्ट रूटीनों का प्रयोग परिमापनों को आरम्भ करने तथा ऑनलाइन गणनाएँ शुरू करने के लिए किया जाता है। ऑनलाइन प्रोग्राम स्थिति नियंत्रण के लिए पूर्वानुमानित अशुद्धियों के आनुपातिक अविभाज्य एवं व्युत्पन्न नियंत्रण (पीआईडी) कानून की गणना भी करते हैं। डीएसपी में रहने वाले एल्गोरिथ्म करतन ड्राइव प्रणाली के संतोषजनक प्रचालन हासिल करने के लिए सभी पूर्व निर्धारित शर्तों की जाँच भी करते हैं और उसके फलस्वरूप निर्धारित प्रतीक्षारत स्थिति में करतन की चाकुओं की स्थिति की भी जाँच कर ली जाती है, यदि वह प्रतीक्षारत स्थिति मे पहले ही नहीं है।
  • प्रणाली के अपेक्षित ट्यूनिंग मानदण्डों की प्रविष्टि करने तथा पीसी और डीएसपी के बीच दो-तरफा संचार स्थापित करने के लिए एक प्रयोक्ता उपयोगी ग्राफिकल इंटरफेस का डिजाइन किया गया है। अपेक्षित मानदण्डों की प्रविष्टि करने के उपरान्त, इन मानो को भेजने तथा डीएसपी प्रणाली को नियंत्रण हस्तान्तरित कर देने के बाद प्रयोक्ता कटाई की प्रक्रिया शुरू कर सकता है। नियंत्रण को डीएसपी प्रणाली को दे देने पर, पीसी निगरानी मोड पर चला जाता है। अब चाकुओं के आरम्भ होने, उनकी चाल आदि की स्थिति की जानकारी पीसी को चली जाती है और इस प्रयोजन से उपलब्ध कराए गए स्थान पर मॉनीटर में उसका प्रदर्शन होता है। यदि उन प्रचालनों में कोई समस्या उत्पन्न होती है (उदाहरण के लिए स्विच को ऑफ करना पड़ेगा), तो वह स्क्रीन पर प्रदर्शित होगा और लगातार बीप के शब्द होंगे, जिससे प्रचालक उनका सुधार कर सके। कटाई की कार्रवाई पूरी होने के बाद, प्रचालन को प्लॉट करने के लिए आवश्यक डेटा डीएसपी से पीसी को भेजे जाते हैं और उपयुक्त लॉग फाइलों में भण्डारित किए जाते हैं। 

हार्डवेयर की विशेषताएँ

मदर बोर्ड

प्रोसेसर

TMS320C32 फ्लोटिंग प्वाइंट डीएसपी

बाह्य बस

32-बिट

मेमोरी

ईपीरॉम – 64के से 256के रैम

सीरियल पोर्ट

1 आरएस232 तथा 1 आरएस485

32-बिट टाइमर

2

आपूर्ति वोल्टता

+5V

स्थिति प्रदर्श

5 LEDs

बैक प्लेन बस

VME अनुरूपी (6 विस्तार स्लॉट)

बोर्ड का आकार

डबल यूरो (160 * 233.3 मिमी)

 

प्रक्रिया इंटरफेस

डिजिटल इनपुट

9; उच्च गति ऑप्टो-आईसोलेटेड

डिजिटल आउटपुट

2; रिले कन्टैक्ट

एनालॉग इनपुट

2; 12-बिट रेस. 2000V डीसी आइसोलेशन

एनालॉग आउटपुट

3; 12- बिट रेस. 2000V डीसी आइसोलेशन

बाह्य इंटरप्ट

3; उच्च गति ऑप्टो-आईसोलेटेड

क्रमिक एनकोडर इनपुट

2; क्वाड्रेचर डिकोडर इनपुट

एबसल्यूट एनकोडर इनपुट

1; 16-बिट ग्रे-कोड इनपुट

Hindi

68HC11A0 माइक्रोकंट्रोलर प्रशिक्षक प्रणाली

मोटोरोला 68HC11A0 मइक्रोकंट्रोलर प्रशिक्षक प्रणाली की विशेषताएँ

 प्रोसेसर

68HC11A0 माइक्रोकंट्रोलर

क्लॉक

2 MHz बस प्रचालन ( 8 MHz, क्रिस्टल नियंत्रित, चार द्वारा विभाजित)

 मेमोरी

16K बाह्य एसरैम, 256 बाइट आन्तरिक रैम, 8K ईपीरॉम एनालॉग

एनालॉग इनपुट पोर्ट

8 – चैनल एडीसी इनपुट (संकेत समाप्त 0 से 5Vdc), 8 – बिट स्पष्टता

एनालॉग आउटपुट पोर्ट

सिंगल चैनल डीएसी आउटपुट 8-बिट स्पष्टता ( 0 से 5Vdc / 0 से 10Vdc)

डिजिटल इनपुट/आउटपुट पोर्ट

8255 के 3 पोर्ट पोर्ट – क, पोर्ट – ख, पोर्ट – ग जिनका प्रोग्राम इनपुट या आउटपुट पोर्टों के रूप में किया जा सकता है 

टर्मिनल/होस्ट/आई/ओ पोर्ट

आरएस – 232सी अनुरूपी

विद्युत की आवश्यकता

 +5Vdc    @0.3A  (अधिकतम)
+12Vdc   @0.3A  (अधिकतम
-12Vdc   @0.3A  (अधिकतम)

आयाम

280 मिमी (लम्बाई) X 180 मिमी (चौड़ाई)

Hindi

भूमिगत जल स्तर निगरानी एवं रिकार्डिंग यूनिट का डिजाइन एवं विकास

पानी की कमी एक प्राथमिक चिन्ता के विषय है। पर्यावरण की आयोजना के लिए भूमिगत एवं सतही जल की समुचित माप में उपलब्धता अनिवार्य है। यथार्थ प्रबंध तथा समुचित प्रौद्योगिकी को अपनाने से इन समस्याओं का कुछ हद तक समाधान किया जा सकता है। अतः जल संसाधनों की आयोजना एवं प्रबंध में भूमिगत जल तथा जल स्तर में परिवर्तनों के डेटा प्राथमिक रूप में महत्वपूर्ण है। भूमिगत जल स्तरों के परिमापन के लिए इलेक्ट्रॉनिकी/उन्नत प्रौद्योगिकी का अनुप्रयोग, तथा जल स्तरों के विश्लेषण में इस डेटा का प्रयोग करने से जल संसाधनों का बेहतर प्रबंध हो सकता है।

विकसित उपकरण का उद्देश्य बोर वेल, डग वेल तथा अन्य स्रोतों के भूमिगत जल की निगरानी, रिकार्डिंग एवं निरूपण करना है। इस प्रयोजन से, एक बुद्धिपरक क्षेत्रीय उपकरण (आईएफआई) तथा उपकरण इंटरफेस सॉफ्टवेयर (आईआईएस) का विकास किया गया है। आईएफआई को क्षेत्रों में स्थापित किया जाएगा जहाँ भूमिगत जल स्तर का परिमापन किया जाता है और आईआईएस को पीसी में लोड किया जाएगा, जिसे आईएफआई के साथ जोड़ा जाएगा।  आईएसआई लोड की गई पीसी को  आईएफआई के साथ तभी जोड़ा जा सकेगा जब आईएफआई में रिकार्ड किए गए डेटा को पढ़ना हो तथा उपकरण का अंशांकन करना हो। आईएफआई भूमिगत जल का परिमापन शुद्ध रूप से करती है जिसे आईआईएस के माध्यम से प्रयोक्ता द्वारा नमूना ग्रहण के लिए निश्चित समय के अनुसार विशेष रूप से डिजाइन किए गए अन्तर्निर्मित ट्रांसड्यूसर की सहायता से पढ़ा जाता है। इसी डेटा को आईएफआई की गैर-परिवर्तनशील मेमोरी में रिकार्ड किया जा सकता है। विभिन्न स्थलों पर स्थित आईएफआई को आईआईएस चलाने वाली पीसी के साथ क्रमिक रूप में जोड़ा जा सकता है (किसी एक समय में एक यूनिट)। आईआईएस को इन आईएफआई में रिकार्ड किए गए डेटा की आवश्यकता होती है तथा उसे पीसी के डेटाबेस में भण्डारित करती है। इस डेटाबेस का प्रयोग भूमिगत जल स्तर तैयार करने के लिए किया जा सकता है, जो भूमिगत जल की गतिविधि का विश्लेषण करने तथा जल संसाधनों का समुचित प्रबंध करने के लिए उपयोगी होगा। आईआईएस उपकरण के अंशांकन  तथा प्रयोक्ता की विभिन्न सेटिंग जैसे कि नमूना के समय, औसत ग्रहण समय-काल, तिथि, समय, आदि निश्चित करने के दौरान भी आईएफआई के साथ सम्पर्क करती है। आईएफआई इंजीनियरी यूनिटों में भूमिगत जल स्तर के तात्कालिक डेटा का प्रदर्शन भी करती है। आईएफआई का डिजाइन इस प्रकार किया गया है कि परिमापन एवं पर्यावरण के पक्ष से आने वाली सभी प्रकार की विघ्नताओं की क्षतिपूर्ति की जा सके।

यह एक कम कीमत वाली एवं विश्वसनीय प्रौद्योगिकी है, जिसे भारतीय मौसम की प्रतिकूल परिस्थितियों में चलाने के लिए बनाया गया है। समग्र रूप में, प्रणाली की विशेषताएँ नीचे दिए अनुसार हैं :

  • बोर वेल, डग वेल, कनालों तथा नदियों में जल स्तर का परिमापन
  • परिमापन का पूर्ण स्तर : 0 से 50 मीटर
  • 32,000 तक नमूनों की रिकार्डिंग
  • जल स्तरों का तात्कालिक निरन्तर डिजिटल प्रदर्शन
  • मैनुअल/स्वतः अंशांकन सुविधा
  • डेटा अभिग्रहण, प्रस्तुतीकरण, विश्लेषण तथा अंशांकन के लिए प्रयोक्ता उपयोगी सॉफ्टवेयर
  • +5मिमी. शुद्धता
  • मौसम संबंधी सभी परिस्थितियों में प्रचालन योग्य
  • डेटाबेस का रखरखाव पीसी में
  • इस उपकरण के तीन यूनिट होते हैं
  • परिमापन खण्ड
  • बुद्धिपरक संसाधन एवं रिकार्डिंग यूनिट (आईपीआरयू)
  • पीसी के लिए उपकरण उपकरण सॉफ्टवेयर (आईआईएस)
परिमापन खण्ड :

परिमापन खण्ड विभिन्न विघ्नताओँ, जो वास्तविक भूमिगत जल के स्तरों को प्रभावित करते हैं, सहित पानी की गहराई को पढ़ता है। इन सभी संकेतों को वोल्टता में परिवर्तित किया जाता है तथा इस खण्ड के साथ संलग्न सिगनल कंडिशनिंग यूनिट में अपेक्षित स्तरों में प्रवर्धित किया जाता है।       

बुद्धिपरक संसाधन एवं रिकार्डिंग यूनिट :

यह यूनिट परिमान यूनिट के सिगनलों की सहायता से वास्तविक जल स्तर की गणना करती है और उसे रिकार्ड किया जाता है। यह तात्कालिक डेटा का प्रदर्शन भी करती है। इस डेटा को अनुरोध के आधार पर पीसी को भेजा जा सकता है।  

पीसी के लिए उपकरण इंटरफेस सॉफ्टवेयर (आईआईएस) :

यह सॉफ्टवेयर विभिन्न स्थलों पर स्थित आईएफआई में रिकार्ड किए गए डेटा को सीरियल पोर्ट के जरिए पढ़ता और पीसी डेटाबेस में भण्डारित करता है। इस डेटा को ग्राफ तथा स्प्रेडशीट के रूप में प्रदर्शित किया जाएगा। इस स़ॉफ्टवेयर में भी तिथि, समय तथा आईपीआरयू में स्थिति जैसी प्रयोक्ता सेटिंग निर्धारित करने की सुविधा है।         

विशेषताएँ :

ट्रांसड्यूसर :
  • पूर्ण स्तर का परिमपन रेंज : 0 से 50 मीटर
  • परिमापन शुद्धता : +1सेमी
  • स्पष्टता : 0.25mV/cm  
  • इनपुट प्रतिरोधक (सेंसर) रेंज : 0-10Kohms
  • आउटपुट रेंज : 0 to 5V
  • शुद्धता : + 0.5cm
संसाधन कार्ड :
  • प्रोसेसर : इंटेल 87C51 माइक्रोकंट्रोलर
  • फ्रीक्वेंसी : 12 MHz
  • इनपुट:
  • एनालॉग : रेंज 0-5V
  • स्पष्टता : 8 बिट
  • चैनलों की सं. : 6
  • डिजिटल :  कन्टैक्ट सेंसिंग के लिए 2 इनपुट
  • आउटपुट :  मोटर ड्राइवर को 2 डिजिटल आउटपुट
  • दोष संसूचन के लिए 8 टीटीएल डिजिटल आउटपुट
  • 64 K फ्लैश मेमोरी
  • 256 बाइट रैम
  • 4 अंक का डिजिटल प्रदर्श
  • पीसी के साथ इनंटरफेस के लिए एक  RS232C सीरियल पोर्ट
विद्युत आपूर्ति बोर्ड :
  • आउटपुट  : +5V, + 12V DC
  • वीए रेटिंग : 150VA(लगभग)
  • इनपुट : 230 V + 10%, 50Hz
  • बैटरी बैकअप : 7 AMPH
पर्यावरण संबंधी विशेषताएँ :
  • तापमान का रेंज : 0 to 50oC
  • परियोजना परिव्यय :  4.0 लाख रु.
  • वित्तपोषण एजेंसी : विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार

वर्तमान स्थिति : पूरी की गई 

Hindi

प्रायोगिक संयंत्र

नाइलिट कालीकट में हमने निम्नलिखित उद्देश्यों से प्रक्रिया स्वचालन प्रशिक्षण संयंत्र का डिजाइन किया है तथा उसका विकास किया जा रहा है 

  • प्रक्रिया नियंत्रण एवं औद्योगिक स्वचालन में प्रैक्टिकल उन्मुखी एम.टेक पाठ्यक्रम चलाने के लिए एक प्लेटफार्म का विकास करना
  • नई प्रक्रिया नियंत्रण एवं यंत्रीकरण कार्यनीतियों के लिए अनुप्रयोग अनुसंधान एवं विकास के लिए एक प्लेटफार्म का विकास करना
  • वास्तविक प्रक्रिया का उपयोग करने से पहले प्रक्रिया उद्योगों के स्वचालन के लिए आवश्यक नियंत्रण कार्यनीतियों के अध्ययन के लिए एक प्लेटफार्म का विकास करना
  • अद्यतन तकनीकी जानकारी की एक प्रशिक्षण व्यवस्था का विकास करना जिसे अन्ततः शैक्षिक संस्थानों को उपलब्ध कराया जा सकेगा (विभिन्न वित्तपोषण एजेंसियों के माध्यम से)
  • नए बने इंजीनियरों को वास्तविक प्रक्रिया तथा औद्योगिक स्वचालन से परिचित कराना
  • संयंत्र स्वचालन के लिए परियोजना इंजीनियरी में अपने संगठन की जनशक्ति का प्रशिक्षण।

निम्नलिखित में प्रशिक्षण प्रदान करना :

  • इंजीनियरी मानक एवं पद्धतियाँ
  • इंजीनियरों, संयंत्र पर्यवेक्षकों तथा संयंत्र प्रचालकों को औद्योगिक स्वचालन के हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर की विशेषताएँ।

हाल के वर्षों में, प्रक्रिया संयंत्रों के कार्यनिष्पादन की अपेक्षाओं को पूरा करना अधिक कठिन हो गया है। मजबूत प्रतिस्पर्धा, पर्यावरण और सुरक्षा संबधी कठोर विनियमों तथा अर्थव्यवस्था का वैश्वीकरण उत्पाद की गुणवत्ता की विशेषताओं को सख्त बनाने के प्रमुख कारण हैं। इससे न केवल प्रक्रिया में सुधार हुआ है बल्कि प्रक्रिया स्वचालन के लिए परिमापन, यंत्रीकरण तथा उन्नत नियंत्रण के कार्यान्वयन की नई पद्धतियो का भी विकास हुआ है। प्रक्रिया नियंत्रण का प्रदर्शन करने के लिए आरम्भिक शिक्षण उपस्कर कई स्रोतों से व्यापक रूप में उपलब्ध हैं।

प्रक्रिया नियंत्रण सिमुलेटर, जिसमें संयंत्र को कम्प्यूटर द्वारा दिखाया जाता है, भी व्यापक रूप में उपलब्ध हैं। लेकिन ये उपस्कर प्रशिक्षार्थियों को वास्तविक प्रक्रिया संयंत्र में अपेक्षित जटिलताओं के साथ कार्य के माध्यम से अनुभव नहीं प्रदान करेंगे। इसके साथ ही, वास्तविक संयत्र में उन्नत प्रक्रिया नियंत्रण तकनीकों का अध्ययन एवं विश्लेषण करना भी किफायती नहीं है, जिसके कारण अवांछित खतरे तथा उत्पादन में हानि हो सकती है। इसलिए, विभिन्न प्रक्रिया नियंत्रण उपकरणों तथा प्रक्रिया स्वचालन के लिए आवश्यक उन्नत नियंत्रण प्रणाली का अध्ययन, विश्लेषण, दोष-निवारण तथा प्रयोगात्मक कार्य करने के लिए वास्तविक आकार के उपकरणों का प्रयोग करके विकास करना अनिवार्य है। आधुनिक प्रक्रिया नियत्रण एल्गोरिथ्मों, जैसे कि अनुकूलनीय नियंत्रण तथा पूर्वानुमानित नियंत्रण की पहलुओं की प्रभावशीलता का बेहतर अध्ययन एक ऐसे प्रशिक्षण संयंत्र में किया जा सकता है जहाँ प्रयोगशाला आकार के उपस्कर के बदले वास्तविक आकार के उपकरण होंगे। इसके परिणामस्वरूप, एक प्रक्रिया स्वचालन प्रशिक्षण संयंत्र का डिजाइन एवं विकास हुआ है।

यह संयंत्र औद्योगिक प्रक्रिया स्वचालन की वास्तविक जीवन की समस्याओं में इंजीनियरों को प्रशिक्षित करने की एक आदर्श व्यवस्था है। संयंत्र में मूलभूत नियंत्रण लूप जैसे कि स्तर, दबाव, तापमान, प्रवाह, तथा तापमान एवं स्तर, दबाव एवं स्तर के परस्पर सक्रिय नियंत्रण लूप हैं। इसमें प्रक्रिया संयंत्र में वास्तविक आकार के ही उपस्कर होते हैं जैसे कि ओपन टैंक, दबाव टैंक, हीट एक्चेंजर, विभिन्न प्रकार के स्तर ट्रांसमीटर, नियंत्रण वाल्व, ओरिफिस प्लेट, सेंट्रिफ्यूगल पम्प, सोलोनॉएड वाल्व तथा तेल मुक्त कम्प्रेशर।

संयंत्र की मानीटरिंग एवं नियंत्रण का चयन संबद्ध हार्डवेयर युक्त औद्योगिक पीसी के माध्यम से या एक पीएलसी के माध्यम से किया जा सकता है। अतः इसे पीसी/पीएलसी आधारित प्रक्रिया प्रचालन एवं नियंत्रण में शिक्षण के लिए तथा प्रक्रिया स्वचालन के लिए आवश्यक विभिन्न उन्नत नियंत्रण कार्यनीतियों का परीक्षण करने के लिए विशेष रूप में तैयार किया जा सकता है।

 विशेषताएँ

1) प्रतिपुष्टि नियंत्रण

       i)  तापमान

             क) दूरी गति लैग के साथ

            ख) क्षमता लैग के साथ

      ii)  प्रवाह

     iii)   स्तर

     iv)   दबाव

2)  कैसकेड नियंत्रण

      i)  स्तर एवं प्रवाह

3) तीन तत्व नियंत्रण    

      i)  तापमान

      ii)  प्रवाह

      iii) स्तर

      iv) दबाव

4)  फीड फारवर्ड नियंत्रण

      i)  तापमान

5) हीट एक्सचेंजर नियंत्रण

       i) परम्परागत एवं फीड फारवर्ड

6) अनुपात नियंत्रण

      i)  प्रवाह

7) परस्पर-सक्रिय नियंत्रण

      i)  स्तर एवं तापमान

      ii)  दबाव एवं स्तर

8) बैच नियंत्रण, सिमुलेशन, माडलिंग तथा कई अन्य

बिजली की खपत
यंत्रीकरण 2.7 किवा. हीटर 12 किवा.

जल आपूर्ति गरम 5 लीटर/मिनट 1 बीएआर पर ठंडा 8.3 लीटर/मिनट 1 बीएआर पर

वायु आपूर्ति 8.19 एम3/घंटा 10 बीएआर पर

परिमाप 5.0 X 3.4 X 0.88 M

Hindi


वीएलएसआई डिजाइन


लघु उद्योगों के लिए उत्पाद

जल स्तर नियंत्रक

ऑटो हेड लाइट एवं बर्गलर अलार्म

आपातकालीन फ्लूरोसेंट लैम्प

औद्योगिक इलेक्ट्रॉनिक बलास्ट

इलेक्ट्रॉनिक भार तोलन मशीन के लिए बैटरी बैकअप

ऑटोमेटिक वोल्टेज स्टेबिलाइज़र

सीएफएल लैम्प के लिए इलेक्ट्रॉनिक बलास्ट

ऑफ-लाइन यूपीएस

एसएमपीएस

अग्नि एवं सुरक्षा अलार्म

उच्च आवृत्ति ऑफ-लाइन यूपीएस

उच्च आवृत्ति ऑन-लाइन यूपीएस

साबुन फैक्टरी के लिए हीटर एवं आवरण मशीन नियंत्रण

फीजिओथेरपी के लिए बुद्धिपरक ट्रैक्शन यूनिट

डिजिटल प्रेसेटेबल ब्लाइंड टाइमर

हृदय गति मॉनीटर

तापमान नियंत्रक

व्यायाम साइकिल के लिए प्रदर्श प्रणाली

Hindi