Error message

Warning: Creating default object from empty value in ctools_access_get_loggedin_context() (line 1411 of /var/www/html/sites/all/modules/ctools/includes/context.inc).

पीएचडी की लिए अग्रणी अनुसंधान

कालीकट विश्वविद्यालय तथा राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (नाइलिट) कालीकट ने इलेक्ट्रॉनिकी शिक्षण एवं अनुसंधान के क्षेत्र में आपसी सहयोग के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। समझौते के अनुसार वैज्ञानिक, इंजीनियर तथा शिक्षक विश्वविद्यालय के गाइड बन सकते हैं और इलेक्ट्रॉनिकी में डॉक्टरेट कार्यक्रम के अभिलाषी विद्यार्थियों का मार्गदर्शन कर सकते हैं। नाइलिट-सी के शोध विद्यार्थी इलेक्ट्रॉनिकी के क्षेत्रों में पीएचडी का अध्ययन करने के लिए कालीकट विश्वविद्यालय में पंजीकरण करवाएंगे।

यह समझौता स्नातकोत्तर शिक्षण के माध्यम से ईएसडीएम के क्षेत्र में अत्यन्त कुशल जनशक्ति की उपलब्धता में बढ़ोतरी करने और देश में वर्ष 2020 तक प्रतिवर्ष लगभग 2500 पीएचडी तैयार करने की दिशा में एक प्रयास है, जैसा कि भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिकी नीति के माध्यम से अभिकल्पना की गई है।

यह केन्द्र कालीकट विश्वविद्यालय का इलेक्ट्रॉनिकी इंजीनियरी में प्रथम अनुसंधान केन्द्र है। केन्द्र का लक्ष्य इलेक्ट्रॉनिकी / इलेक्ट्रॉनिकी एवं संचार इंजीनियरी के डोमेनों में अद्यतन तकनीकी जानकारी की सुविधाएँ उपलब्ध कराकर इन क्षेत्रों में बढ़िया क्वालिटी के शोध तैयार करना है। अन्तर्निर्मित प्रणालियों, वीएलएसआई, इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) आदि के क्षेत्र में सक्रिय अनुसंधान का योजना बनाई गई है। पूर्णकालिक एवं अंशकालिक अनुसंधान के प्रावधान की व्यवस्था की गई है। नियमित विद्यार्थियों के लिए छात्रवृत्ति की भी योजना बनाई गई है।

शोध मार्गदर्शन एवं सुविधाएँ :

शोधकर्ताओं का मार्गर्शन कालीकट विश्वविद्यालय से विधिवत मान्यता प्राप्त अनुसंधान गाइडों के माध्यम से किया जाता है। उपलब्ध गाइडों तथा उनकी विशेषज्ञता के क्षेत्र के बारे में ब्यौरों के लिए कृपया हमारी वेबसाइट देखें / शोध समन्वयकर्ता से सम्पर्क करें।

आवेदन कैसे करें/अधिक ब्यौरे :

कृपया सम्पर्क करें : शोध समन्वयकर्ता, नाइलिट, कालीकट, पो.बा. सं. 5, एनआईटी परिसर पो.आ. कालीकट-673601 फोन नं. 0495-2287266 विस्तार : 211 .

अनुसंधान के क्षेत्र नीचे दिए अनुसार हैं–

इलेक्ट्रॉनिकी प्रणाली डिजाइन एवं विनिर्माण से संबंधित अनुसंधान के सूचक क्षेत्र :

विषय 1 : चिप डिजाइन पर उन्नत प्रणाली

  • पुनः विन्यासयोग्य अभिकलन
  • पुनः विन्यासयोग्य सिस्टम-ऑन-चिप
  • इलेक्टॉनिक उत्पाद डिजाइन के लिए नैनो इलेक्ट्रो मेकेनिकल प्रणालियाँ (एनएमईएस)

विषय 1 : एनर्जी हार्वेस्टिंग

  • वाइब्रेंट एनर्जी हार्वेस्टिंग
  • थर्मो इलेक्ट्रॉनिक एनर्जी हार्वेस्टिंग
  • इलेक्ट्रॉनिक युक्तियों की असफलता से बचने के लिए डिजाइन के उपाय
  • स्व-चालित/स्व-पोषित चिप डिजाइन

विषय 2 : प्रणाली डिजाइन में सुरक्षा

  • नेटवर्क समर्थित इलेक्ट्रॉनिक प्रणाली डिजाइन
  • बेतार संचार के लिए हार्डवेयर-सॉफ्टवेयर सह-डिजाइन

विषय 3 : मॉडलिंग एवं सिमुलेशन

  • बेतार सेंसर नेटवर्कों के लिए बिहेवोरियल मॉडल
  • बेतार सेंसर नेटवर्कों के लिए डिजाइन टूल्स
  • वीएचडीएल-एएमएस, सिस्टम वेरिलॉग, सिस्टम सी का प्रयोग करके मिश्रित-सिगनल तथा एनालॉग सिस्टमों का सिमुलेशन
  • परीक्षणयोग्यता के लिए डिजाइन एवं ईको-फ्रेंडली डिजाइन

अन्य क्षेत्र :

  • इलेक्ट्रॉनिक अपशिष्ट संसाधन एवं प्रबंध
  • ईको-फ्रेंडली इलेक्ट्रॉनिक डिजाइन
Hindi