Error message

  • User warning: The following module is missing from the file system: webform_localization. For information about how to fix this, see the documentation page. in _drupal_trigger_error_with_delayed_logging() (line 1143 of /var/www/html/includes/bootstrap.inc).
  • Warning: Creating default object from empty value in ctools_access_get_loggedin_context() (line 1411 of /var/www/html/sites/all/modules/ctools/includes/context.inc).
  • Warning: Creating default object from empty value in ctools_access_get_loggedin_context() (line 1411 of /var/www/html/sites/all/modules/ctools/includes/context.inc).

सीएचएमए

नाम : सीएचएमए (कम्प्यूटर हार्डवेयर अनुरक्षण एवं नेटवर्किंग में उन्नत डिप्लोमा पाठ्यक्रम) 

सीएचएम-ओ स्तर के बाद कम्प्यूटर हार्डवेयर के क्षेत्र में यह दूसरे स्तर का पाठ्यक्रम है। यह कम्प्यूटर हार्डवेयर अनुरक्षण एवं नेटवर्किंग में एक उन्नत डिप्लोमा पाठ्यक्रम है। इस पाठ्यक्रम की अवधि डेढ़ वर्ष (सीएचएम-ओ स्तर में उत्तीर्ण विद्यार्थियों के मामले में एक वर्ष) है जो प्रत्येक वर्ष फरवरी तथा अगस्त से आरम्भ होता है। इस पाठ्यक्रम में दाखिले की नोटिस भी पाठ्यक्रम आरम्भ होने के लगभग 1 महीने पहले नागालैण्ड के स्थानीय दैनिक समाचार-पत्रों में प्रकाशित की जाती है।

उद्देश्य :

इस पाठ्यक्रम का उद्देश्य विद्यार्थियों को अपेक्षित ज्ञान एवं कुशलता प्रदान करके डीओईएसीसी हार्डवेयर परीक्षा के लिए तैयार करना है।

मान्यता :

भारत सरकार ने डीओईएसीसी सोसायटी द्वारा आयोजित सीएचएम ‘ए’ स्तर की परीक्षा को केन्द्र सरकार के अन्तर्गत पदों तथा सेवाओं में रोजगार के प्रयोजन से कम्प्यूटर हार्डवेयर अनुरक्षण एवं नेटवर्किंग में उन्नत डिप्लोमा पाठ्यक्रम के समकक्ष की मान्यता प्रदान की है। इस पाठ्यक्रम को डीओईएसीसी सोसायटी तथा भारत में सूचना प्रौद्योगिकी हार्डवेयर प्रशिक्षण, सूचना प्रौद्योगिकी डिजाइन/अनुसंधान एवं विकास तथा संबद्ध सेवाओं का प्रतिनिधित्व करने वाले सूचना प्रौद्योगिकी विनिर्माता संघ (एमएआईटी) नामक शीर्षस्थ निकाय द्वारा संयुक्त रूप में आरम्भ किया गया है।

पात्रता :

सीएचएम-ओ स्तर पास/10वीं कक्षा मे उत्तीर्ण होने के बाद इलेक्ट्रॉनिकी/कम्प्यूटर/विद्युत/यंत्रीकरण में डिप्लोमा या भौतिकी/इलेक्ट्रॉनिकी/कम्प्यूटर के साथ बी.एस.सी का दूसरा वर्ष या बी.ई. (विद्युत/इलेक्ट्रॉनिकी/कम्प्यूटर/सूचना प्रौद्योगिकी) के दूसरे वर्ष में अध्ययनरत तथा प्रत्यायित ‘ए’ स्तर का पाठ्यक्रम (साथ-साथ हो सकता है)।

प्रवेश :

प्रत्येक सत्र के लिए 20 सीटें

चयन की पद्धति :

विद्यार्थियों का चयन नाइलिट, कोहिमा द्वारा ली जाने वाली विशुद्धतः एक प्रवेश परीक्षा के आधार पर किया जाता है। यदि आवेदकों की संख्या कम होती है तो प्रवेश परीक्षा नहीं ली जाती है।

सीएचएमओ स्तर में उत्तीर्ण विद्यार्थियो के मामले में पाठ्यक्रम की अवधि तथा पेपरों से छूट :

जिन विद्यार्थियों ने ‘सीएचएम-ओ’ स्तर उत्तीर्ण किया है तथा ‘सीएचएम-ए’ स्तर के पाठ्यक्रम में दाखिला लिया है उन्हें ‘सीएचएम-ए’ स्तर के एक ही प्रकार के विषयों से छूट मिलेगी (सिद्धान्त एवं प्रैक्टिकल दोनों)। ऐसे विद्यार्थियो के मामले में पाठ्यक्रम की अवधि केवल एक वर्ष (दो सेमेस्टर) होगी अर्थात वे सीधे दूसरे सेमेस्टर का अध्ययन करेंगे।    

पाठ्यचर्या :

पेपर कोड पेपर का नाम

सिद्धान्त के पेपर

CHM-A1

इलेक्ट्रॉनिकी संघटक-पुर्जे तथा पीसी हार्डवेयर

CHM-A2

पीसी वास्तुकला

CHM-A3

कम्प्यूटर पेरिफरल तथा नेटवर्किंग

CHM-A4

प्रणाली सॉफ्टवेयर नैदानिक एवं डिबगिंग टूल्स

CHM-A5

व्यक्तित्व विकास एवं संचार की कुशलता

CHM-A6

उन्नत पीसी हार्डवेयर तथा नेटवर्किंग संघटक-पुर्जे

CHM-A7

डेटा संचार तथा कम्प्यूटर नेटवर्क

CHM-A8

नेटवर्क प्रबंध तथा प्रशासन

CHM-A9

लिनक्स प्रशासन

CHM-A10

उद्यमशीलता विकास

CHM-A11

ऐच्छिक (निम्नलिखित 4 में से किसी एक का चयन करना होगा)

सिद्धान्त के ऐच्छिक पेपर

CHM-AE1

सूचन प्रौद्योगिकी सुरक्षा

CHM-AE2

उन्नत नेटवर्क प्रबंध

CHM-AE3

अन्तर्निर्मित प्रणाली का परिचय

CHM-AE4

उन्नत संघटक-पुर्जों द्वारा नेटवर्किंग

परियोजना

CHM-APJ

परियोजना कार्य

प्रैक्टिकल पेपर

AP-1

पीसी डिबगिंग मरम्मत तथा अनुरक्षण

AP-2

सॉफ्टवेयर प्रतिष्ठापन एवं नेटवर्क अनुरक्षण

AP-3

उन्नत हार्डवेयर तथा नेटवर्किंग

AP-4

नेटवर्क प्रतिष्ठापन

AP-5

लिनक्स प्रशासन

AP-6

चुने गए/ दिए गए विकल्प के अनुसार ऐच्छिक विषय

परियोजना कार्य :

डीओईएसीसी “सीएचएम-ए” के पाठ्यविवरण में एक परियोजना है जो सिद्धान्त के पेपरों को पूरा करके प्राप्त ज्ञान तथा कुशलता का प्रयोग करके वास्तविक जीवन की समस्याओं के समाधान के एकीकृत अनुभव के रूप में है। विद्यार्थियों को परियोजना सफलतापूर्वक पूरी करनी होगी। विद्यार्थी 5 पेपरों में उत्तीर्ण होने और अगली परीक्षाओं में शेष पेपरों में बैठने के बाद ही परियोजना प्रस्तुत कर सकते हैं। मूल्यांकन के लिए 1000/- रु. की फीस का भुगतान डीओईएसीसी केन्द्र के नाम किसी राष्ट्रीयकृत बैंक के डिमाण्ड ड्राफ्ट के जरिए किया जाएगा।  

परीक्षा :

1. सिद्धान्त की परीक्षाएँ :

परीक्षा का आयोजन डीओईएसीसी सोसायटी (औरंगाबाद केन्द्र) द्वारा वर्ष में दो बार अर्थात प्रतिवर्ष अगस्त तथा फरवरी के महीनों में किया जाता है। परीक्षा फार्म नाइलिट, कोहिमा से नकद रूप में 25/-. रु. का भुगतान करके संग्रह किया जा सकता है।

प्रत्येक पेपर का पूर्णांक 100 है तथा परीक्षा की अवधि 3 घंटे है। सिद्धान्त के प्रत्येक पेपर के लिए परीक्षा फीस 500/- रु. + प्रयोज्य सेवा कर है।

2. प्रैक्टिकल परीक्षाएँ :

इस पाठ्यक्रम के लिए चार प्रैक्टिकल पेपर हैं जिनके प्रत्येक के लिए 100 अंक (मौखिक परीक्षा के लिए 20 अंक) हैं। नाइलिट के प्रशिक्षार्थियों के लिए प्रैक्टिकल परीक्षा का आयोजन नाइलिट, कोहिमा द्वारा डीओईएसीसी सोसायटी के पर्यवेक्षण में किया जाएगा। सिद्धान्त की परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले फार्म का ही प्रयोग प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए किया जाएगा और प्रति पेपर 500/- रु. + सेवा कर की अतिरिक्त फीस का भुगतान करना होगा। परीक्षा फार्म जारी तथा प्रस्तुत करने तथा परीक्षा आरम्भ होने की अनन्तिम तिथियाँ नीचे दिए अनुसार हैं :.

कार्यकलाप जनवरी परीक्षा अगस्त परीक्षा

नाइलिट, कोहिमा में आवेदन फार्म जारी किया जाना

i) आरम्भ की तिथि

15 सितम्बर

15 अप्रैल

ii) अतिम तिथि

20 नवम्बर

20 मई

नाइलिट, कोहिमा में भरे हुए फार्म प्रस्तुत करने की अन्तिम तिथि

i) विलम्ब शुल्क के बिना

20 नवम्बर

20 मई

ii) विलम्ब शुल्क के साथ

5 दिसम्बर

5 अप्रैल

परीक्षा का प्रारम्भ: :

फरवरी का पहला शनिवार

अगस्त पहला शनिवार

परीक्षा के परिणाम :

सीएचएम-ए स्तर की परीक्षा के परिणाम नाइलिट के विद्यार्थियों के लिए डीओईएसीसी केन्द्र, औरंगाबाद की वेबसाइट http://www.doeaccaurangabad.org.in. पर प्रकाशित किए जाते हैं। नाइलिट के विद्यार्थी कार्यलय से पूछताछ कर सकते हैं। परिणाम डीओईएसीसी ‘ओ’ तथा ‘ए’ स्तर के पाठ्यक्रमों की ही तरह ग्रेड के रूप में दिए जाएंगे। परीक्षा के समग्र ग्रेड का आकलन करते समय प्रैक्टिकल पेपर(रों) के प्राप्तांक को शामिल नहीं किया जाता है लेकिन प्रमाण-पत्र जारी करने के लिए प्रैक्टिकल पेपर(रों) में उत्तीर्ण होना आवश्यक शर्त है।

Hindi