पुस्तकालय

ग्रंथालय नामक नाइलिट अगरतला केन्द्र के पुस्तकालय की स्थापना वर्ष 2009 में इन्द्रनगर स्थित नाइलिट के अस्थायी परिसर की दूसरी मंजिल में की गई है। वर्तमान स्थायी परिसर में पुस्तकालय का कुल क्षेत्रफल 300 वर्ग मिटेर है। पुस्तकालय अब क्लोज़्ड एक्सेस सिस्टम अपना रहा है। नाइलिट अगरतला केन्द्र ने ई-ग्रंथालय का कार्यान्वयन सफलतापूर्वक किया है। ई-ग्रंथालय नामक पुस्तकालय स्वचालन प्रणाली का विकास एनआईसी, इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा किया गया है। 

नाइलिट अगरतला केन्द्र के पुस्तकालय तथा त्रिपुरा विश्वविद्यालय अध्ययन केन्द्र के पुस्तकालय की ऑनलाइन सार्वजनिक अभिगम पुस्तक-सूची (ओपीएसी) नाइलिट ओपेक पर उपलब्ध है।

पुस्तकालय के संग्रह का व्यवस्थापन देवे डेसिमल क्लासिफिकेशन (डीडीसी) योजना के अनुसार किया जाता है जो अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पुस्तकालय के वर्गीकरण की जानी-पहचानी एवं स्वीकृत योजना है। पुस्तकों की खरीद विद्यार्थियों की आवश्यकता, शिक्षक-वर्ग के सदस्यों तथा अन्य कर्मचारियों से प्राप्त माँग के आधार पर नियमित रूप में की जाती है। पुस्तकालय तथा पुस्तकालय सेवाओँ के प्रशासन, व्यवस्था तथा अनुरक्षण के लिए प्रभारी निदेशक के अनुमोदन से एक पुस्तकालय समिति का गठन किया गया है।

पुस्तकालय का समय

पुस्तकालय का समय

प्रातः 09:30 बजे से शाम 05:30 बजे तक

पुस्तकें जारी होने का समय

प्रातः 09:30 बजे से शाम 05:30 बजे तक

भोजनावकाश का समय

अपराह्न 01.30 बजे से 02:00 बजे तक

 

पुस्तकालय का संग्रह

कुल पुस्तकें  

8175

जर्नल तथा पत्रिकाएँ

017

सीडी/डीवीडी

115

परियोजना रिपोर्टें

05

समाचार-पत्र

07

पुस्तकालय सेवाएँ  

  • पंजीकृत पुस्तकालय सदस्यों को परिचालन की सुविधा
  • वेब ओपीएसी सुविधा
  • पाठागार कक्ष की सुविधा
  • स्थानीय एवं भारतीय समाचार-पत्र प्रकोष्ठ
  • समाचार-पत्रो की वर्तमान सूची : टाइम्स ऑफ इण्डिया, द टेलीग्राफ, जनसत्ता, त्रिपुरा टाइम्स, दैनिक संवाद, दैनिक देशेर कथा, स्यान्दन पत्रिका, रोजगार समाचार
  • पत्रिकाएँ
  • पत्रिकाओं की वर्तमान सूची : इलेक्ट्रॉनिक्स फॉर यू, लिनक्स4 यू, बेनिफिट आईटी, डिजिट, आईसी चिप, डेटा क्वेस्ट, रीडर्स डाइजेस्ट, आउटलुक, इण्डिया टुडे, फ्रंट लाइन, मास्टर इन करंट अफेयर्स, साफल्य, न्यूज़ एण्ड ईवेन्ट्स, कम्पिटिशन रिफ्रेशर, कम्पिटिशन सक्सेस रिव्यू
  • रेडियोग्राफी/स्कैन सुविधा
  • विद्यार्थियों तथा शिक्षक-वर्ग के सदस्यों के लिए ई-मेल सेवा
  • प्रयोक्ता अभिमुखीकरण/सूचना साक्षरता
  • डिजिटल लाइब्रेरी
  • आईईईई एक्सप्लोर, परिसर के अन्दर पुस्तकें 24x7 भी प्राप्त की जा सकती है। नाइलिट अगरतला केन्द्र एमसीआईटी पुस्तकालय कंसोर्शियम का एक सक्रिय सदस्य भी है। 
  • सूचना का डिस्प्ले एवं अधिसूचना
  • पुस्तकों का आरक्षण
  • सुझाव एवं शिकायत बॉक्स 

 
पुस्तकालय के नियम 

  • प्रवेश द्वार पर पुस्तकालय सदस्यता/पहचान-पत्र कार्ड माँगे जाने पर दिखाना होगा। 
  • पुस्तकालय के अन्दर व्यक्तिगत वस्तुएँ ले जाने की अनुमति नहीं होगी।
  • पुस्तकालय की किसी सामग्री अथवा सम्पत्ति की क्षति की स्थिति में, संबंधित व्यक्ति प्रतिस्थापन की लागत का वहन करने का जिम्मेदार होगा। 
  • पाठक पुस्तकालय के अन्दर शांत रहेंगे तथा अपना आचरण शराफत पूर्वक करेंगे ताकि अध्ययन तथा अनुसंधान का अनुकूल वातावरण तैयार रहे।
  • सदस्यों से अपेक्षा की जाती है कि वे पुस्तकालय से जारी करवाई गई पुस्तकों को वापस करने की तिथि को या उससे पहले लौटा देंगे। अन्यथा पुस्तकें विलम्ब से लौटाने पर 2/- रु. प्रति पुस्तक की दर से विलम्ब शुल्क का भुगतान करना होगा। पुस्तकों का नवीकरण उपलब्धता तथा दूसरे सदस्यों से उन्हीं पुस्तकों की माँग पर निर्भर करेगा।  
  • पाण्डुलिपियाँ, संदर्भ पुस्तकें, दुर्लभ पुस्तकें, थीसिस, डेज़र्टेशन, पत्रिकाएँ (लूज़ संख्याएँ तथा बँधे हुए) तथा इस प्रकार की अन्य पठन सामग्रियाँ पुस्तकालय के अन्दर पढ़ने के लिए हैं और सक्षम प्राधिकारी की विशेष अनुमति के बिना जारी नहीं की जाएंगी। 
  • सदस्यता कार्ड/पहचान-पत्र कार्ड के खो जाने की स्थिति में, इसकी सूचना पुस्तकालयाध्यक्ष को तत्काल दी जाएगी। स्थानीय थाने में दायर प्रथम सूचना रिपोर्ट तथा संस्थान के रोकड़ काउंटर में जमा की गई 25/- रु. की राशि की रसीद के साथ प्रस्तुत आवेदन के आधार पर डुप्लिकेट पहचान-पत्र कार्ड जारी किया जा सकता है। 
  • पुस्तकालय के अनुशासन तथा शिष्टाचार का पालन सर्वदा कड़ाई से किया जाएगा। 
  •  कोई भी व्यक्ति पुस्तकालय के पुस्तक, किसी समाचार-पत्र या डिस्प्ले में रखी गई पत्रिकाओं की वर्तमान संख्या का कोई भी अंश नहीं हटाएगा। 
  • पुस्तकालय के नियम तथा विनियम समय-समय पर संशोधित किए जा सकते हैं तथा सभी संबंधित व्यक्ति उनका अनुपालन करने के लिए बाध्य होंगे।

 

 

 

Hindi