Error message

Warning: Creating default object from empty value in ctools_access_get_loggedin_context() (line 1411 of /var/www/html/sites/all/modules/ctools/includes/context.inc).

प्रस्तावना

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग (डीईआईटीवाई), संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार के प्रशासनिक नियंत्रण के अन्तर्गत राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (नाइलिट), (पूर्वतन डीओईएसीसी सोसायटी) की स्थापना सूचना, इलेक्ट्रॉनिकी एवं संचार प्रौद्योगिकी (आईईसीटी) तथा संबद्ध क्षेत्रों में मानव संसाधन के विकास से संबंधित कार्यकलापों के लिए की गई थी।

नाइलिट आईईसीटी के क्षेत्र में औपचारिक तथा अनौपचारिक दोनों ही प्रकार के शिक्षण के कार्य कर रही है और साथ ही अद्यतन तकनीकी जानकारी के क्षेत्रों में उद्योग उन्मुखी शिक्षण तथा प्रशिक्षण कार्यक्रमों का भी विकास करती है। नाइलिट ने आईईसीटी के क्षेत्र में परीक्षा एवं प्रमाणन के लिए देश का अग्रणी संस्थान बनने के लिए मानक स्थापित करने का प्रयास किया है। यह भारत का एक राष्ट्रीय परीक्षा निकाय भी है, जो अनौपचारिक क्षेत्र में सूचना प्रौद्योगिकी के पाठ्यक्रम चलाने के लिए संस्थानों/संगठनों को प्रत्यायित करती है।

नाइलिट औरंगाबाद कम कीमत पर अच्छी क्वालिटी का शिक्षण प्रदान करता है जो एआईसीटीई द्वारा अनुमोदित बी.टेक (इलेक्ट्रॉनिकी), एम.टेक (इलेक्ट्रॉनिकी डिजाइन एवं प्रौद्योगिकी) पाठ्यक्रमों के जरिए विद्यार्थियों को बौद्धिक एवं प्रोफेशनल कुशलता, नीतिपरक सिद्धान्तों तथा अन्तर्राष्ट्रीय परिदृश्य से परिचित करवाता है। नाइलिट औरंगाबाद इंजीनियरी एवं प्रौद्योगिकी में पीएचडी की डिग्री के लिए अनुसंधान करने के प्रयोजन से डॉ. बाबासाहेब आम्बेडकर मराठवाड़ा विश्वविद्यालय, औरंगाबाद का एक अनुसंधान केन्द्र होने के नाते नए ज्ञान का सृजन कर रहा है और सूचना प्रौद्योगिकी तथा इलेक्ट्रॉनिकी में अग्रणी स्तर के प्रोफेशनलों का विकास करने के लिए अध्यापन, अधिगम तथा अनुसंधान में उत्कृष्टता के साथ-साथ अभिनव, उद्यमशीलता की भावना तैयार कर रहा है। नाइलिट औरंगाबाद इलेक्ट्रॉनिकी उत्पादन तथा अनुरक्षण में एक डिप्लोमा पाठ्यक्रम भी चलाता है। 

Hindi